Mazhar Imam Biography in Hindi

आज हम बात करेंगे मजहर इमाम जी के बारे में के मजहर इमाम कौन थे और मजहर इमाम ने अपने जीवन में क्या-क्या किया था उनकी एजुकेशन क्या थी और वह किस लिए जाने जाते हैं तो मजहर इमाम जी की पूरी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे।

mazhar imam biography in hindi
Mazhar Imam

Mazar Imam Biography in Hindi

मजहर इमाम का जन्म 12 मार्च 1928 ईस्वी में बिहार के दरभंगा जिले में हुआ था और मजहर इमाम जी की मृत्यु 30 जनवरी 2012 ईस्वी में हुई थी। मजहर इमाम जी एक उर्दू कवि और आलोचक थे।

Education of Mazar Imam

मजहर इमाम जी ने मगध विश्वविद्यालय से उर्दू में एमए की डिग्री प्राप्त की और बिहार विश्वविद्यालय से फारसी में एमए की डिग्री प्राप्त की थी। उन्होंने बहुत सारी गजल और पुस्तकें लिखी हैं।

Mazar Imam Life Story

मजहर इमाम जी अपनी m.a. की पढ़ाई पूरी कर कारवां में शामिल हो गए सन 1951 में कोलकाता में दैनिक रूप से काम करने लगे और इसके बाद फिर 1967 में ऑल इंडिया रेडियो पर काम करने लगे। पटना में शामिल होने से पहले उन्होंने 1975 में एक स्कूल शिक्षक के रूप में काम किया। वर्ष 1988 ईस्वी में मजहर इमाम दूरदर्शन श्रीनगर (जम्मू और कश्मीर) के निदेशक के रूप में सेना व्रत हुए  और फिर 1990 में नई दिल्ली में स्थानांतरित हो गए।

Mazar Imam's Books

उन्होंने अपनी उर्दू कविता के चार खंडों सहित तेरह पुस्तकों को लिखा था - ज़ख्म ए तमन्ना (1962), रिशता गोफ़र सफारी का (1974), पिचल मौसम का फूल (1988) और बैंड होदा बाज़ार।  1994 में उन्हें अपनी पुस्तक, पिचले मौसम का फूल के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला।  उन्होंने 1945 में उर्दू शायरी में आज़ाद ग़ज़ल शैली का नवाचार किया

यदि आप मजहर इमाम की पुस्तक और गजल पढ़ना चाहते हैं तो हमें कमेंट करके बताएं